गेहूं निर्यात पर रोक | अब आगे क्या? सरसों में हल्की तेजी | देखें तेजी मंदी रिपोर्ट
 
गेहूं निर्यात पर रोक

गेहूं और सरसों की सबसे सटीक तेजी मंदी रिपोर्ट 

नमस्कार किसान साथियों आपका बहुत-बहुत स्वागत है। रिपोर्ट में हम सरसों और गेहूं के बाजर में चल रही खबरों का सही सही विश्लेषण करेंगे और ये अंदाजा लगाने की कोशिश करेंगे कि आगे भाव में क्या क्या उथल-पुथल हो सकती हैं

गेहूं के निर्यात पर लगा प्रतिबंध

कम सरकारी खरीद के चलते और गेहूं का उत्पादन का अनुमान कम करने के बाद अब सरकार ने गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है जिसका सीधा असर गेहूं के भाव पर पड़ेगा। भाव भारतीय बाजारों में टूट सकते हैं हालंकि अगर लंबे समय तक गेहूं की कमी बनी रहती है तो आगे जाकर भाव बढ़ भी सकते हैं। आमतौर पर सरकारी निर्णय का असर बहुत लंबा नहीं चलता है। फिर भी अस्थायी तौर भाव घट सकते हैं

कम उत्पादन और खरीद के चलते गेहूं लगी रोक

इस साल गेहूं की सरकारी खरीद नए लक्ष्य से कम होती दिखाई दे रही है। सरकारी खरीद केंद्रों पर गेहूं कम आने की वजह से सरकार ने इस साल के लिए लक्ष्य को आधे से भी कम 195 लाख टन कर दिया है। आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार परसों तक करीब 187 लाख टन गेहूं की ही खरीद हो पायी है। मंडियों में अब गेहूं की आवक ना के बराबर है। जिसे देखते हुए कहा जा सकता है कि खरीद के आधे लक्ष्य तक भी पहुँचना मुश्किल है जानकारों का कहना है कि गेहूं की खरीद पिछले 10 सालों मे सबसे कम रह सकती है

गेहूं के ताजा भाव

टोहाना मंडी में गेहूं का रेट 2100
बरवाला मंडी गेहूं आज का रेट 2141
भूना मंडी में गेहूं का रेट 2100
सादुलपुर चूरू मंडी में गेहूं का प्राइस 2275 से 2300
जोबट मंडी गेहूं का रेट 2150
अलीराजपुर मंडी गेहूं आज का रेट 2150
महोवा मंडी गेहूं के भाव ₹ 1980
छतरपुर मंडी गेहूं का प्राइस 2060
बीकानेर मंडी में गेहूं का दाम 2000 से 2300 आवक 1500
केकड़ी मंडी गेहूँ मिल क्वालिटी रेट 2160 आवक 300
सागर मंडी में गेहूं का रेट 2050
राठ मंडी में गेहूं का रेट 2050

शाजापुर मंडी में गेहूं का रेट 2070 से 2300 आवक 1400
अलवर मंडी में गेहूं का प्राइस 2215 से 2270 आवक 700
जबलपुर मंडी में गेहूं का रेट 2000 से 2045 आवक 14000
देवास मंडी में गेहूं का रेट 2140 से 2450 आवक 15000
हरदा मंडी में गेहूं का रेट 2040/2090
छिंदवाड़ा मंडी में गेहू का रेट 2100 से 2350 आवक 22000

इटारसी मंडी में गेहूं का रेट 2017 से 2110
नरसिंहपुर मंडी में गेहूं का रेट 2000 से 2050
विदिशा मंडी में गेहूं का रेट 2000 से 3800
दमोह मंडी में गेहूं का प्राइस 1980
गोटेगांव मंडी में गेहूं का भाव 2000

भोपाल मंडी में गेहूं मिल क्वालिटी का भाव 2200 से 2250
भवानी मंडी में गेहूं का प्राइस 2100 से 2300
सतना मंडी में गेहूं का भाव 2040 से 2050
करही मंडी में गेहूं का रेट 2075/2175
वाशिम मंडी में गेहूं का रेट 1700/2400 आवक 438

कितनी हो रहीं है खरीद

भारतीय खाद्य निगम और राज्य सरकार की एजेंसियों द्वारा गेहूं की खरीद लगभग 187 लाख टन थी। सरकारी अधिकारियों का कहना है कि कि मंडियों में गर्मियों की फसल की दैनिक आवक में भारी गिरावट आई है। वजह है कि मंडी में एमएसपी पर खरीद हो रही है जबकि व्यापारी किसानों से खेत में ही गेहूं खरीद रहे हैं, वह भी एमएसपी से ज्यादा कीमत पर इस साल गेहूं की सबसे ज्यादा खरीद पंजाब में हुई है। सरकारी अधिकारियों के मुताबिक 11 मई तक पंजाब में कुल 95 लाख टन की खरीद हो चुकी थी। इसके बाद हरियाणा और मध्य प्रदेश का नंबर है।

सरसों के भाव और तेजी मंदी रिपोर्ट 14 मई 2022

दोस्तों हम कई दिन से बता रहे हैं कि सरसों के फंडामेंटल मजबूत चल रहे हैं शुक्रवार को भी ठीक ऐसा ही देखने को मिला भी। हालांकि सरसों के भाव में कोई बहुत बड़ी तेजी नहीं दिखाई दी लेकिन और ऑल सेंटीमेंट मजबूत ही बना रहा। सरसों को लेकर क्या कुछ माहौल रहने वाला है इस रिपोर्ट में हम इसकी चर्चा करेंगे

सरसों की ताजा मार्केट अपडेट

शुक्रवार को तेल मिलों की मांग बनी रहने से मार्केट में दूसरे दिन भी सरसों एवं इसके तेल की कीमतों में हल्का सुधार देखने को मिला। जयपुर में कंडीशन की सरसों के भाव 25 रुपये तेज होकर 7,375 रुपये प्रति क्विंटल हो गए। सरसों की आवक में हल्की कमी देखने को मिली। मंडियों में आवक घटकर 4.75 लाख बोरियों की रह गई। व्यापारियों के अनुसार विदेशी बाजार में पॉम तेल और सोया तेल की कीमतों में सुधार आया है, साथ ही घरेलू बाजार में सरसों में बिकवाली कमजोर बनी रही।

गर्मी के मौसम का असर

दोस्तों जैसा कि आप सबको पता है कि गर्मी को मौसम मे तेल की मांग घट जाती है और गर्मी का सीज़न फ़िलहाल अपने पीक पर चल रहा है। देश के अधिकांश राज्यों में तापमान ज्यादा होने का असर भी तेलों की खपत की खपत पर पड़ रहा है। इतनी गर्मी होने के बावजूद भी तेल के भाव में सुधार हो रहा है इससे आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि सरसों में आने वाले बरसाती सीज़न में जबरदस्त डिमांड देखने को मिलेगी और भाव भी तेज होंगे। गर्मी के चलते कम डिमांड और इसके अलावा आगामी दिनों में इंडोनेशिया पॉम तेल के निर्यात पर लगी रोक को हटा लेने की आशंकाओं के चलते भी सरसों में सीमित तेजी मंदी बनी हुई है।

विदेशी बाजारों के ताजा रुझान

विदेशी बाजारों की बात करें तो मलेशिया में पॉम तेल के जुलाई वायदा अनुबंध की कीमतों में 21 रिगिट की तेजी के बाद भाव 6,363 रिगिट प्रति टन पर पहुंच गए। अमेरिकी कृषि विभाग ने गुरुवार को एक मासिक फसल रिपोर्ट में कहा है कि अमेरिका में सोयाबीन का उत्पादन बढ़ने की संभावना है, लेकिन बायो फ्यूल के साथ साथ खाद्य तेलों की बढ़ती मांग को देखते हुए आपूर्ति टाइट रहने का अनुमान है।

दुनिया के सबसे बड़े निर्यातक और पॉम तेल के उत्पादक देश और इंडोनेशिया पर विश्व बाजार के व्यापारियों की नजर रखी हुई है। कभी भी पॉम तेल के निर्यात पर लगे प्रतिबंध को हटाने की खबर आ सकती है।

खाद्य तेलों में लगातार तेजी

खाद्य तेलों के बाजार में भी कुछ सुधार दिखाई दिया। सुरजमुखी तेल के आयात में 74% तक गिरावट दर्ज हुई है हालांकि पिछले में साल से यह 70% कम रहा है। तेल तिलहन के बाजार अभी भी तेजी का इशारा कर रहे हैं। सरसों तेल जयपुर में एक्सपैलर भाव 10 किलो में दो रुपए तेज होकर 1527 के स्तर पर पहुंच गया है। कच्ची घानी के भाव में भी 2 रुपए की बढोतरी हुई है और भाव 1537 रुपए तक हो गया है। आरबीडी पामोलिन चेन्नई में 1535 रुपए बोला जा रहा है। सोयाबीन तेल में भाव स्थिर हैं गुजरात में यह 1575 रुपए, बूंदी में 1580 रुपए और लातूर में 1585 रुपए के स्तर पर है। मूंगफली के तेल में भी कई दिन से चल रही गिरावट रुकी है और बाजार गुजरात में 1575 रुपए पर स्थिर हो गया है। हैदराबाद में इसके भाव 1720 रुपए पर हैं।

सरसों के भाव

जयपुर मंडी में सरसों के रेट 7300
दिल्ली मंडी में सरसों का प्राइस 7050
सुमेरपुर मंडी में सरसों का रेट 7350
सादुलपुर चूरू मंडी में सरसों का प्राइस 5550
सरसों गोयल कोटा भाव ₹ 7100
पोरसा भाव ₹ 6500/75 आवक 500
ग्वालियर भाव ₹ 6600/6700 आवक 700
अलवर भाव ₹ 7000 आवक 5000
खैरथल भाव ₹ 6800/7000 आवक 4000
बरवाला भाव ₹ 6900 आवक 150
हिसार भाव ₹ 6800 आवक 3000
मुरैना भाव ₹ 6600 आवक 1500
जबलपुर मंडी में सरसों का दाम 5000/6400 आवक 500
केकड़ी मंडी में सरसों का रेट 6400/7100 आवक 1000
शाजापुर मंडी में सरसों का रेट 6000 से 6300 आवक 200
राठ मंडी में सरसों का रेट 6200

खुर्जा भाव ₹ 6500 आवक 100
चरखी दादरी मंडी सरसों भाव ₹ 6800/7000
गंगानगर मंडी सरसों भाव ₹ 6300/6700 आवक 2500
आगरा/शमशाबाद/दिगनेर भाव ₹ 7700
अलवर सलोनी भाव ₹ 7800
कोटा सलोनी भाव ₹ 7700
आगरा शारदा भाव ₹ 7400
आगरा बीपी भाव ₹ 7450+50
कोलकाता भाव ₹ 7500
कानपुर भाव ₹ 7300
अदानी विल्मर भाव ₹ 7200
हिसार मंडी (कंडीशन)6900
मण्डी भाव ₹ 6800 आवक 3000
कामां/कुम्हेर/नदबई/डीग/नगर भाव ₹ 6900
भरतपुर भाव ₹ 6900 आवक 2000
कोटा भाव ₹ 6300/6800 आवक 4000
गंगापुर सिटी मंडी सरसों भाव ₹ 6980
मालपुर मंडी में सरसों का रेट 6125 आवक 5000

इटारसी मंडी में सरसों का रेट 6000 से 6100
विदिशा मंडी में सरसों का रेट 5500 से 6400
दमोह मंडी में सरसों का रेट 5500 से 6300
गोटेगांव मंडी में सरसों का रेट 6500
गिद्दवाहाँ मंडी में सरसों का भाव ₹ 6300/6745
सिरसा मंडी में सरसों का रेट 6200/6725
मेड़ता सिटी भाव ₹ 6700+50 आवक 3000
श्योपुर भाव ₹ 6600/6650 भाव ₹ 50 आवक 1200
बारां भाव ₹ 6300/6625+25 आवक 7000

सरसों तेल कच्ची घनी

कोलकाता भाव ₹ 1590
मंगल भाव ₹ 1571
गंगापुर भाव ₹ 1510
श्री गंगानगर भाव ₹ 1520
आदमपुर भाव ₹ 1540
गोयल कोटा भाव ₹ 1581
शिव कोटा भाव ₹ 1560
हिंडौन भाव ₹ 1510
दौसा भाव ₹ 1510
नेवाई भाव ₹ 1520
भरतपुर भाव ₹ 1526/1527
टोंक भाव ₹ 1518
अलवर भाव ₹ 1526/1527
कोटा भाव ₹ 1526/1527
बूंदी1521/1522
उत्सव भाव ₹ भाव ₹ 1530

सरसों तेल एक्सपेलर

भिवानी भाव ₹ 1495/1500
श्री गंगानगर भाव ₹ 1490
बीकानेर भाव ₹ 1480
चरखी दादरी भाव ₹ 1490
भरतपुर भाव ₹ 1520/1521
नेवाई भाव ₹ 1505
अलवर भाव ₹ 1520/1521
कोटा भाव ₹ 1517/1518
बूंदी भाव ₹ 1515/1516
विपुल भाव ₹ 1505

सरसों खल

श्री गंगानगर भाव ₹ 2650
केकरी भाव ₹ 2750
आगरा भाव ₹ 2901/2987
चरखी दादरी भाव ₹ 2600
भरतपुर भाव ₹ 2750
अलवर भाव ₹ 2725
नेवाई भाव ₹ 2640
कोटा भाव ₹ 2800
टोंक भाव ₹ 2630

बरसाती सीज़न में बढ़ेंगे भाव

जैसा कि हमने पहले भी बताया है कि अत्यधिक गर्म सीजन होने के कारण खाद्य तेलों की मांग में गिरावट दर्ज हुई है जिसके चलते बाजार नीचे की तरफ जा रहा था । मौसम विभाग के अनुसार दक्षिणी राज्य केरल में 20 मई तक मानसून पहुंचने की संभावना है जिसके बाद मानसून की दिशा और रफ्तार मध्य भारत की तरफ बढ़ेगी। बरसातों का सीजन शुरु होने के बाद एकाएक खाद्य तेलों की मांग बढ़ेगी और बाजार के तेज होने की प्रबल संभावना है

सरसों की घटती आवकें

देशभर की मंडियों में शुक्रवार को सरसों की दैनिक आवक घटकर 4.75 लाख बोरियों की ही हुई, जबकि गुरूवार को आवक 5 लाख बोरियों की हुई थी । कुल आवकों में से प्रमुख उत्पादक राज्य राजस्थान की मंडियों में 2.15 लाख बोरी, मध्य प्रदेश में 35 हजार बोरी, उत्तर प्रदेश में 75 हजार बोरी, हरियाणा और पंजाब में 60 हजार बोरी, गुजरात में 20 हजार बोरी तथा अन्य राज्यों की मंडियों में 70 हजार बोरी सरसों की आवक हुई।

रोके या बेचे

दोस्तो गेहूं हो या सरसों ताजा माहौल को देख कर यह कहा जा सकता है कि दोनों ही फसलों की डिमांड और सप्लाई में बड़ा अन्तर है। भाव काफी तेज हो चुके है और उम्मीद है कि आगे और तेज होंगे। हालांकि गेहूं मे कुछ दिन के लिए अस्थाई मंदी देखने को मिल सकती है

दिए गए भाव सार्वजनिक स्त्रोतों से प्राप्त किए गए हैं। व्यापार अपने विवेक से करने की सलाह दी जाती है