Rule Change: आपके जेब पर पड़ेगा सीधा असर, 1 जून से होने वाले हैं ये पांच बड़े बदलाव

1 जून 2022 से बड़े बदलाव होने वाला है, जिसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ने वाला है। इसमें सोने की खरीदारी से लेकर आपके बैंकिंग संबंधी कार्य में बदलाव होगा।

 
आपके जेब पर पड़ेगा सीधा असर, 1 जून से होने वाले हैं ये पांच बड़े बदलाव

मई का महीना समाप्‍त होने को है और हर महीने की तरह 1 जून 2022 से बड़े बदलाव होने वाला है, जिसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ने वाला है। इसमें सोने की खरीदारी से लेकर आपके बैंकिंग संबंधी कार्य में बदलाव होने वाला है। साथ ही गाड़ी इंश्‍योरेंस लेना भी महंगा होने वाला है। इन बदलावों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है, क्‍योंकि इससे आपके ऊपर पैसों का बोझ बढ़ेगा। यहां 5 प्रमुख वित्तीय बदलाओं के बारे में जानकारी दी जा रही है, जो जून 2022 से लागू होंगे।

थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस होगा महंगा
थर्ड पार्टी वाहन बीमा लेने के लिए 1 जून 2022 से अधिक कीमत देनी होगी। 1000cc से अधिक की थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस के लिए सालाना दर 2,094 रुपए तय की गई है। वहीं नई दरों के तहत, 1000 cc और 1500 cc के बीच इंजन क्षमता वाली निजी कारों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस 3,221 रुपए से बढ़ाकर 3,416 रुपए कर दिया गया है। वहीं 1500 सीसी से अधिक वाले वाहनों का प्रीमियम 7,890 रुपए से बढ़कर 7,897 रुपए किया गया है।

दोपहिया वाहन इंश्‍योरेंस भी हुआ महंगा
इसके अलावा दोपहिया वाहनों के लिए 150cc और 350cc पर बीमा प्रीमियम 1,366 रुपए होगा, जबकि 350cc से अधिक के दोपहिया वाहनों के लिए 2,804 रुपए का प्रीमियम होगा। वहीं ईवी के लिए भी थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस में इजाफा किया गया है।

SBI होम लोन की ब्‍याज दरें
भारत के सबसे बड़ा भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने अपने होम लोन की बेंचमार्क उधार दर (ईबीएलआर) को 40 आधार अंकों से बढ़ाकर 7.05 प्रतिशत करने की घोषणा की है। वहीं RLLR 6.65 प्रतिशत प्लस सीआरपी होगा। यह ब्‍याज दरें 1 जून, 2022 से प्रभावी होंगी। एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, इससे पहले ईबीएलआर 6.65 पर्सेंट थी, जबकि रेपो-लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) 6.25 प्रतिशत तय थीं।

Axis बैंक का बचत खाता शुल्क
एक्सिस बैंक ने अर्ध-शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में बचत और वेतन अकाउंट के लिए औसत मासिक शेष राशि 15,000 रुपए से बढ़ाकर 25,000 रुपए और 1 लाख रुपए की सावधि जमा कर दी है। लिबर्टी सेविंग अकाउंट के लिए आवश्यकता को 15,000 रुपए से बढ़ाकर 25,000 रुपए कर दिया गया है। ये शुल्क 1 जून, 2022 से लागू होने वाले हैं।

गोल्ड हॉलमार्किंग
1 जून, 2022 से अनिवार्य हॉलमार्किंग का दूसरा चरण शुरू कर दिया जाएगा। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने कहा कि अनिवार्य हॉलमार्किंग के दूसरे चरण के दायरे में सोने के आभूषणों के तीन अतिरिक्त 20, 23 और 24 कैरेट के अलावा 32 नए जिले भी आएंगे। जहां पहले चरण के क्रियान्वयन के बाद एक परख एवं हॉलमार्क केंद्र (एएचसी) स्थापित होगा। यहां बता दें कि पहले चरण की शुरुआत नोडल एजेंसी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) ने 23 जून 2021 से देश के 256 जिलों में अनिवार्य गोल्ड हॉलमार्किंग को लागू करके की थी।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक शुल्क
एक और महत्वपूर्ण वित्तीय बदलाव 1 जून से होने वाला है। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) ने कहा है कि आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) के लिए जारीकर्ता शुल्क लागू किया गया है। ये फीस 15 जून 2022 से लागू की जाएगी। पहले तीन एईपीएस लेनदेन प्रति माह मुफ्त होंगे, जिसमें एईपीएस नकद निकासी, एईपीएस नकद जमा और एईपीएस मिनी स्टेटमेंट शामिल हैं। इसके बाद, प्रत्येक नकद निकासी या नकद जमा पर 20 रुपये + जीएसटी लगेगा, जबकि एक मिनी स्टेटमेंट लेनदेन पर 5 रुपये जीएसटी लगेगा।