Post Office Scheme: शादी के बाद जीरो रिस्क पर खुलवाएं यह अकाउंट! हर महीने मिलेंगे गारंटीड 4950 रुपये

Post Office Scheme: पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम ( Post Office MIS) एक ऐसी सुपरहिट स्‍माल सेविंग्‍स स्‍कीम है, जिसमें सिर्फ एकबार आपको पैसा लगाना पड़ता है. और इसमें आपको जीवन भर गारंटीड इनकम होगी.  

 
Post Office Scheme: शादी के बाद जीरो रिस्क पर खुलवाएं यह अकाउंट! हर महीने मिलेंगे गारंटीड 4950 रुपये

Post office MIS: बाजार के उतार-चढ़ाव के जोखिम के बीच आपको बहुत सोच-समझ कर नीवश चुनना चाहिए. निवेश का आप ऐसा ऑप्‍शन चुनें जहां आपका पैसा पूरी तरह सेफ हो और आपको गारंटीड रिटर्न भी मिले. पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम ( Post Office MIS) एक ऐसी सुपरहिट स्‍माल सेविंग्‍स स्‍कीम है, जिसमें सिर्फ एकबार आपको पैसा लगाना पड़ता है. MIS अकाउंट का मैच्योरिटी पीरियड 5 साल का होता है. यानी, पांच साल बाद से आपको गारंटीड मंथली इनकम होने लगेगी. आइए इस स्‍कीम की डीटेल जानते हैं.

ज्‍वाइंट अकाउंट में मैक्सिमम 9 लाख तक का निवेश 

POMIS स्कीम में सिंगल और ज्‍वाइंट दोनों तरह अकाउंट खुलवाया जा सकता है. मिनिमम 1,000 रुपये के निवेश से अकाउंट खुल सकता है. सिंगल अकाउंट में मैक्सिमम 4.5 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं. वहीं, ज्वाइंट खाते में निवेश की लिमिट 9 लाख रुपये है. 

MIS में मिलते हैं कई फायदे 

- पोस्ट ऑफिस MIS स्कीम में दो या तीन लोग मिलकर भी ज्वाइंट अकाउंट खुलवा सकते हैं.
- इस अकाउंट के बदले में मिलने वाली आय को हर मेंबर को बराबर दिया जाता है.
- ज्वाइंट अकाउंट को कभी भी सिंगल अकाउंट में कन्वर्ट करा सकते हैं.
- सिंगल अकाउंट को भी ज्वाइंट अकाउंट में कन्वर्ट करा सकते हैं.
- अकाउंट में किसी तरह का बदलाव करने के लिए सभी अकाउंट मेंबर्स की ज्वाइंट एप्लीकेशन देनी होती है.
- मैच्योरिटी यानी पांच साल पूरा होने पर इसे आगे 5-5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है.
- MIS अकाउंट में नॉमिनेशन की सुविधा है. इस स्‍कीम पैसा पूरी तरह सेफ होता है. इस पर सरकार की सॉवरेन गारंटी होती है.

जानिए वर्तमान इंटेरेस्ट रेट 

इंडिया पोस्ट की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, मंथली इनकम स्‍कीम पर सालाना 6.6 फीसदी ब्याज मिल रहा है. इसका भुगतान हर महीने होता है. आप जान लीजिए कि पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में कोई भी भारतीय नागरिक निवेश कर सकता है.

प्रीमैच्‍योर बंद कराने का खास नियम

पोस्ट ऑफिस MIS स्कीम की मैच्‍योरिटी पांच साल होती है, इसमें प्रीमैच्‍योर क्‍लोजर हो सकता है. हालांकि, आप इसमें डिपॉजिट की तारीख से एक साल पूरे होने के बाद ही आप पैसा निकाल सकते हैं. इस स्कीम के नियमों के अनुसार, 'अगर एक साल से तीन साल के बीच में पैसा निकालते हैं, तो डिपॉजिट अमाउंट का 2% काटकर वापस किया जाएगा. अगर अकाउंट खुलने के 3 साल बाद मैच्योरिटी के पहले कभी भी पैसा निकालते हैं तो आपकी जमा राशि का 1% काटकर वापस किया जाएगा.

कैसे खोलें MIS अकाउंट?

- MIS अकाउंट खोलने के लिए आपके पास पोस्‍ट ऑफिस में सेविंग्‍स अकाउंट होना चाहिए.
- इसके लिए आपके पास आईडी प्रूफ के लिए आधार कार्ड या पासपोर्ट या वोटर कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस आदि होना जरूरी है.
- इसके लिए आपको 2 पासपोर्ट साइज के फोटोग्राफ देने होंगे.
- एड्रेस प्रूफ के लिए सरकार द्वारा जारी आईडी कार्ड या यूटिलिटी बिल मान्‍य होंगे.
- ये डॉक्युमेंट लेकर आप नजदीकी पोस्‍ट ऑफिस जाकर पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम का फॉर्म भरें.
- आप इसे ऑनलाइन भी डाउनलोड कर सकते हैं.
- फॉर्म भर कर इसमें नॉमिनी का नाम भी दें.
- यह खाता खोलने के लिए शुरू में 1000 रुपये कैश या चेक के जरिए जमा करना होगा.