Paytm Share Crash: 75% की गिरावट के बाद एक दशक में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला बना पेटीएम का IPO
Paytm Share Price: Bankia SA के बाद निराश करने वाले आईपीओ में पेटीएम शामिल हो गया है. पेटीएम के शेयर के रेट में लिस्टिंग के बाद से एक साल में 75 फीसदी की गिरावट आई है
 
Paytm Share Crash: 75% की गिरावट के बाद एक दशक में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला बना पेटीएम का IPO

Paytm Share Price: नवंबर 2021 में स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टिंग के बाद से ही पेटीएम ने अपने निवेशकों को निराश किया है. अब सामने आए एक डाटा के मुताबिक बीते एक दशक में  पूरी दुनिया में पेटीएम का आईपीओ सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला आईपीओ साबित हुआ है. गुरूवार को पेटीएम का शेयर अपने इश्यू प्राइस से करीब 80 फीसदी की गिरावट के साथ 441 रुपये पर बंद हुआ है. 

ब्लूमबर्ग के डाटा के मुताबिक लिस्टिंग के एक साल में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले आईपीओ पर नजर डालें तो 2012 में स्पेन की कंपनी Bankia SA के आईपीओ ने सबसे निराश  किया था जब उसके शेयर में एक साल में आईपीओ प्राइस से 82 फीसदी की गिरावट आई थी. Bankia SA के बाद निराश करने वाले आईपीओ में पेटीएम शामिल हो गया है. पेटीएम के शेयर के रेट में लिस्टिंग के बाद से एक साल में 75 फीसदी की गिरावट आई है. आईपीओ प्राइस के हिसाब से पेटीएम का मार्केट कैप 1.39 लाख करोड़ रुपये था जो घटकर 28634 करोड़ रुपये रह गया है. यानि निवेशकों को 1.10 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है. 

Bankia SA और पेटीएम के बाद संयुक्त अरब अमीरात की कंपनी डीपी वर्ल्ड के शेयर प्राइस में लिस्टिंग के बाद से 74 फीसदी, Hong Kong की Bilibili के शेयर प्राइस में 72 फीसदी और न्यू वर्ल्ड रिसोर्सेज के शेयर के भाव में 71 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी. 

पेटीएम के शेयर में गिरावट की वजहों पर गौर करें तो रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी जियो फाइनैंशियल सर्विसेज के जरिए फाइनैंशियल सेक्टर में कदम रखने जा रहे हैं. पेटीएम को बड़ी चुनौती मिलने वाली है. Macquarie Group ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि पेटीएम के मार्केट शेयर में बड़ा सेंध लग सकता है. तो 18 नवंबर, 2022 को पेटीएम में निवेश करने वाले बड़े निवेशकों के लिए लॉक इन पीरियड खत्म हो गया जिसके बाद लगातार बड़े निवेशक पेटीएम का शेयर बेच रहे हैं.