ब्रिटेन में 48,123 करोड़ की डील कर रहे मुकेश अंबानी, अगर बात बनी तो रिलायंस की होगी सबसे बड़ी Deal
 
ई

रिलायंस इंडस्ट्रीज द्वारा काफी समय से वालग्रीन्स के ड्रग (दवा) रिटेलर ब्रांड Boots को खरीदने की कोशिश कर रही है. ब्लूमबर्ग की एक खबर के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बायआउट फर्म अपोलो ग्लोबल मैनेजमेंट के साथ साझेदारी में बाइडिंग ऑफर पेश किया है.

रिलायंस की डील

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी द्वारा लंबे समय से ब्रिटेन में हो रही एक डील करने की कोशिश की जा रही थी. मुकेश अंबानी अब इस डील के एक कदम और करीब पहुंच चुके हैं. यह डील अगर मुकेश अंबानी की कंपनी से हो जाती है तो यह अबतक की विदेश में हुई रिलायंस की सबसे बड़ी डील होगी.

इस डील पर काम कर रही रिलायंस इंडस्ट्रीज

रिलायंस इंडस्ट्रीज द्वारा काफी समय से वालग्रीन्स के ड्रग (दवा) रिटेलर ब्रांड Boots को खरीदने की कोशिश कर रही है. ब्लूमबर्ग की एक खबर के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बायआउट फर्म अपोलो ग्लोबल मैनेजमेंट के साथ साझेदारी में बाइडिंग ऑफर पेश किया है. ऐसे में अगर यह डील पूरी हो जाती है तो यह रिलायंस की विदेश में हुई सबसे बड़ी डील होगी.

दुनिया की सबसे बड़ी ड्रग कंपनी

Boots दुनिया की सबसे बड़ी ड्रग रिटेलर कंपनियों में से एक है. खबरों के मुताबिक ड्रग कंपनी बूट्स को खरीदने के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज द्वारा 5 अरब पाउंड यानी 48,123 करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया है.

अब तक रूकी थी डील

दरअसल मुकेश अंबानी मूल रूप से गुजराती है. उनकी ड्रग कंपनी से इस डील को ब्रिटिश गुजराती भाइयों इस्सा ब्रदर्स ने रोक रखा था. Boots के पहले राउंड कीबोली में सबसे बड़ी बिड Issa Bros ने की थी. गुजरात के भरूच के रहने वाले Mohsin Issa और Zuber issa की कंपनी द्वारा Euro Garages कंपनी के माध्यम से इस डील के लिए बोली लगाई थी. बता दें कि यह कंपनी यूरोप की सबसे बड़ी पेट्रोल कंपनियो में से एक है. बता दें कि इस्सा ब्रदर्स के बाद अमेराक में सुपर मार्केट की चेन है जिसके कंपनी का नाम Asda और रेस्तरां कंपनी के चेन का नाम Leon है.

 

इस्सा ब्रदर्न ने पहले इस बिडिंग में TDR कैपिटल के साथ मिलकर Boots के लिए बोली लगाई थी. लेकिन अब उन्होंने बिडिंग से अपना नाम वापस ले लिया है. क्योंकि उन्हें Walgreens का वैल्युएशन ज्यादा लगा. इस बीच ब्रिटेन में कर्ज महंगा हो गया.इस कारण इस डील के लिए लोन जुटा पाना भी मुश्किल हो गया है.