8th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों की मिनिमम सैलरी बढ़ कर होगी 95000 रुपये से ज्यादा! 8वें वेतन आयोग पर आया बड़ा अपडेट

8th Pay Commission latest Updates: 7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के बावजूद कम सैलरी मिलने की शिकायत कर रहे केंद्रीय कर्मचारियों की शिकायत अब लगभग दूर हो सकती है. सरकार में उनकी वेतन बढ़ोतरी की मांग पर जल्द ही बड़ा फैसला हो सकता है. 

 
8th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों की मिनिमम सैलरी बढ़ कर होगी 95000 रुपये से ज्यादा! 8वें वेतन आयोग पर आया बड़ा अपडेट

8th Pay Commission latest Updates: कर्मचारियों को लगातार कम सैलरी की शिकायत रहती है, लेकिन अब ये शिकायत दूर होने वाली है. अगस्त का महीना केंद्रीय कर्मचारियों (Central Government employees) के लिए बढ़िया रहने वाला है. डीए एरियर, महंगाई भत्ते में इजाफा और फिटमेंट फैक्टर जैसे कई भत्तों में बढ़ोतरी हो सकते हैं. ऐसे में, कर्मचारियों को सबसे ज्यादा इंतजार फिटमेंट फैक्टर को लेकर है. लंबे समय इसे बढ़ाने के लिए कर्मचारियों ने सरकार के सामने मांग रखी है. उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) बढ़ाने पर भी विचार कर सकती है. 

फिटमेंट फैक्टर क्यों है ख़ास?

गौरतलब है कि केंद्रीय कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में फिटमेंट फैक्टर का अहम रोल होता है. 7th pay commission में Pay matrix बनाए गए हैं, उनमें फिटमेंट फैक्टर (Fitment factor) के आधार पर ही सैलरी तय होती है. पुरानी बेसिक पे से रिवाइज्ड बेसिक पे की कैलकुलेशन होती है. पिछले वेतन आयोग की रिपोर्ट में फिटमेंट फैक्टर में कई महत्वपूर्ण सिफारिश दी गई थीं. लेकिन, उसमें फिटमेंट फैक्टर को भी 3 कैटेगरी में रखा गया था. फिलहाल, कर्मचारियों को 2.57 गुना की दर से फिटमेंट फैक्टर मिल रहा है. 

फिटमेंट फैक्टर से बढ़ेगा बेसिक 

हमारी सहयोगी वेबसाइट ज़ी बिजनेस के अनुसार, 7th Pay Commission की सिफारिशों में फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) को 2.57 गुना रखा गया. इसी आधार पर केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी रिवाइज की गई. आंकड़ों को देखें तो 7वें वेतन आयोग में सबसे कम सैलरी हाइक मिला था. हालांकि, बेसिक सैलरी 18000 रुपये कर दी गई. अब बताया जा रहा है कि 8वें वेतन आयोग में फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाकर 3.68 गुना तक रखा जा सकता है. यानी कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपये से बढ़कर 26,000 रुपये जो जाएगा. आइये नजर डालते हैं कि किस वेतन आयोग में क्या था सैलरी हाइक

95680 रुपये हो सकती है सैलरी

- हमारी सहयोगी वेबसाइट ज़ी बिजनेस के अनुसार, 6th Pay Commission के तहत फिटमेंट फैक्टर 1.86 गुना और वेतन वृद्धि 54% के साथ न्यूनतम वेतनमान 7,000 रुपये था.
- जबकि 7th Pay Commission के तहत फिटमेंट फैक्टर 2.57 गुना और वेतन वृद्धि 14.29% होने पर न्यूनतम वेतनमान 18,000 रुपये पर पहुंचा है.
- 8th Pay Commission में अगर फिटमेंट फैक्टर 3.68 गुना होता है तो न्यूनतम वेतनमान 26,000 हो जाएगा.
- दरअसल, किसी केंद्रीय कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18,000 रुपये है, तो भत्तों को छोड़कर उसकी सैलरी 18,000 X 2.57= 46,260 रुपये बनेगी.
- लेकिन, फिटमेंट फैक्टर के 3.68 होने पर सैलरी 26000 X 3.68 = 95,680 रुपये हो जाएगी.
- यानी साफ है कि लेवल-1 के कर्मचारियों को 49,420 रुपये का फायदा होगा.

कब लागू होगा 8वां वेतन आयोग?

अब सवाल है कि 8th pay commission कब आएगा? इसे लेकर एक्सपर्ट्स के अलग-अलग तर्क हैं. सरकारी सूत्रों का कहना है कि सरकार अब अगले पे-कमिशन पर विचार नहीं करेगी, जबकि एक्सपर्ट्स का मानना है कि ऐसा करना संभव नहीं है. 8वें वेतन आयोग के आने में अभी वक्त है. साल 2026 से पहले साल 2024 में चुनाव भी होने हैं. ऐसे में अभी केंद्र सरकार ऐसी कोई गलती नहीं करेगी, जिससे कर्मचारी वोटर निराश हों. इसलिए ये तय है कि अगला वेतन आयोग आएगा और 1 जनवरी 2026 तक इसे लागू किया जाएगा.