7th Pay Commission: सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर! इस महीने आएगा बकाया DA एरियर, सरकार ने दी मंजूरी

7th Pay Commission: सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. महाराष्ट्र सरकार अपने कर्मचार‍ियों को सातवें वेतन आयोग के बकाया की तीसरी क‍िस्‍त जल्‍द ही देने वाली है. इससे पहले कर्मचारियों को सरकार की तरफ से दो क‍िस्‍तों में भुगतान क‍िया जा चुका है.

 
7th Pay Commission: सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर! इस महीने आएगा बकाया DA एरियर, सरकार ने दी मंजूरी

7th Pay Commission Latest News: सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. अब आपको बड़ा फायदा होने वाला है. केंद्र सरकार के बाद कई राज्यों ने भी डीए (Dearness Allowance) में बढ़ोतरी की है. कई राज्यों के कर्मचारियों का डीए भी केंद्रीय कर्मचारियों के बराबर यही 34% है. इसी क्रम में अब खबर आ रही है कि महाराष्‍ट्र सरकार भी अपने कर्मचार‍ियों को खुशखबरी दे सकती है. 

लाखों कर्मचारियों को मिलेगा फायदा

महाराष्ट्र सरकार ने सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) के तहत एरियर के बकाये की तीसरी किस्त देने का ऐलान किया है. गौरतलब है कि सरकार इसकी 2 किस्त पहले ही दे चुकी है. सरकार के इस फैसले से महाराष्ट्र सरकार के लगभग 17 लाख कर्मचारियों को सीधा फायदा मिलेगा. बताया जा रहा है कि इस महीने तीसरी किस्त आएगी.

जानिए कैसे होगा भुगतान?

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में साल 2019 में राज्य सरकार के कर्मचारियों के साथ जिला परिषद और नगर निगम के कर्मचारियों के लिए भी 7वां वेतन आयोग (7th Pay Commission) लागू किया गया. इसके बाद सरकार ने यह तय किया कि वर्ष 2019-20 से 5 सालों में और पांच किस्तों में कर्मचारियों को उनकी बकाया राशि का भुगतान किया जाएगा. इसके तहत अब तक कर्मचारियों को 2 किस्त मिल चुकी हैं. अब तीसरी क‍िस्‍त म‍िलने के बाद चौथी और पांचवीं क‍िस्‍त और बाकी रह जाएंगी.

कर्मचारियों की होगी बल्ले-बल्ले

सरकार के इस फैसले से कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले हो जाएगी. सरकारी कर्मचारियों में ग्रुप ए के अध‍िकार‍ियों की बात करें तो उन्हें 30 से 40 हजार रुपये का फायदा होगा. वहीं, ग्रुप बी वाले अध‍िकार‍ियों को 20 से 30 हजार रुपये का फायदा होगा. इसके तहत ग्रुप सी वालों को 10 से 15 हजार और चौथी श्रेणी वालों को 8 से 10 हजार रुपये का फायदा होगा. आपको बता दें कि महाराष्ट्र के सरकारी कर्मचारियों को 31% डीए का लाभ मिल रहा है.